Biofloc Fish Farming Training In India

भारत में बायोफ्लॉक मछली पालन प्रशिक्षण

अब मछली पालन करें आधुनकि बायो फ्लॉक तकनीक के साथ

अगर आप भी सफल व्यवसायी बनने का सपना देख रहे हैं तो आइये .. हमसे जुड़े व् मछली पालन के विशेषज्ञ से प्रशिक्षण ले..!

दिनांक 24 – 25 अक्टूबर (शनिवार व रविवार) को

जयपुर में व्यक्तिगत बायो फ्लॉक फिश फार्मिंग ट्रेनिंग के लिए call @ ☏: 96728 68980

Biofloc Fish Farmnig Training Center In India

( 2 दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम | 2 Days Training Program)

For More info Please call @ ☏: 9672868980

Biofloc Fish Farming in Hindi

मछली पालन के लिए प्रशिक्षण लें, जानिए कैसे कम जगह और कम पानी में करें ज्यादा मछली उत्पादन

बायोफ्लॉक मछली पालन प्रशिक्षण में आप तिलाफिआ, पंगेसियस, पाबड़ा, सिंघी व् माँगुर जैसी मछलियों के पालन की बारीकियां सीख पाएंगे

हिंदी में Biofloc मछली पालन | बायोफ्लॉक मछली पालन प्रशिक्षण में अन्य जानकारी जो आप ले पाएंगे:

– मछली पालन के लिए टैंक का निर्माण (How to Prepare Tanks for Biofloc fish farming)
– मछली पालन के लिए पानी की तैयारी (Water preparation in Biofloc)
– मछलियों के लिए भोजन की व्यवस्था या निर्माण (Type of fish feed in Biofloc)
– मछलिओं का भोजन कैसे बनायें या किस प्रकार का भोजन दें (How to prepare fish feed at Home)
– मछलियों को भोजन किस मात्रा में दें (Understanding Feed %)
– मछलियों में मुख्य रूप से कौन कौन सी बिमारिया होती हैं (Which are main decisis in Biofloc)
– मछलियों में ग्रेडिंग की आवश्यकता (Requirement of Grading in Biofloc)
– मछलियों की सैंपलिंग कैसे करें और इसकी आवश्यकता (How to do sampling)
व इसी तरह की अन्य आवश्यक जानकारी  

बायोफ्लॉक मछली पालन क्यों करें ?
बायो फ्लॉक मछली पालन के व्यवसाय में क्यों आएं?

बायो फ्लॉक मछली पालन भारत में काफी लाभदायक सिद्ध हो सकता है, क्योंकि करीबन 60 प्रतिशत आबादी मछली खाना पसंद करती है. भारत में मछली की मांग बढ़ने के मुख्य कारण हैं – एक तो मछली काफी स्वादिष्ट होती है व् मछली प्रोटीन व विटामिन का प्रचुर स्रोत है!

आज के युग में लोग अपने स्वास्थ्य के प्रति काफी जागरूक हैं इसलिए अपने शौक व स्वास्थय सम्बंधित जरूरतों के लिए मछली का सेवन करना पसंद करते हैं!

इन्ही कुछ कारणों से बायो फ्लॉक मछली पालन व्यवसाय तेजी से पनप रहा है और अगर कृषि से सम्बंधित व्यापारों की बात करें तो भारतीय अर्थवयवस्था में मछली पालन उद्योग की हिस्सेदारी तक़रीबन 4.6% से जयादा है!

भारत में मछली पालन व्यवसाय की सम्भावना या भविष्य

भारत में व्यवसायिक तौर पर मछली पालन (Fish Farming) की प्रचुर संभावना है क्योंकि …

1- भारत में मुख्य तौर पर 60% लोग मछली का सेवन करना पसंद करते हैं

2- मछलियों में प्रोटीन की मात्रा अच्छी होने से इसकी मांग व कीमत हमेशा अच्छी बनी रहती है

3- भारत में मछलियों के लिए मौसम की अनुकूलता की वजह से किसी भी तरह के नुकसान की सम्भावना अन्य व्यसाया की अपेक्षा कम होती है

4- भारत में खेती योग्य मछलियों की काफी सारी प्रजातियां व् उपजातिया आसानी से उपलब्ध हो जाती हैं जिन्हे लोग बड़े चाव से कहते हैं

5- आप उनमेसे से उस नस्ल का चुनाव कर सकते हैं जो जल्दी बड़ी होती हैं व उनका व्यापारिक दृष्टि से मूल्य भी अच्छा मिलता है

6- मछली पालन में मुनाफा लेने के लिए आसानी से बिकने योग्य व मुनाफा देने वाली मछली का चुनाव करना जरुरी है ! आपको ये सुनिश्चत करना है की आपकी पुरे कल्चर की मेहनत व्यर्थ न चली जाये !
आपको उन्ही मछली की प्रजाति का पालन करना है जो आपके आस पास के मार्केट में आसानी से बिक जाये और उनका दाम भी आपको उचित मिले !

7- बायोफ्लॉक विधि से मछली पालन में वैसे तो कोई समस्या नहीं आती परन्तु हमें विशेष रूप से सर्दियों में तापमान नियंत्रण का विशेष रूप से ध्यान रखना चाहिए !

तापमान में जायदा उतार चढ़ाव से मछलियों में तनाव उत्पन होता है और उनमे बीमारियां आने की सम्भावना बढ़ जाती है !

For More Details Please Whatsapp @ ☏: 9672868980

Why Biofloc Fish Farming Training Program is needed
बायो फ्लॉक फिश फार्मिंग प्रोग्राम की क्या आवश्यकता है

मछली पालन का व्यवसाय एक अच्छे मुनाफे वाला व्यवसाय है व दूसरे सभी कार्यो की तरह ट्रेनिंग लेकर अपना खुद का व्यवसाय प्रारम्भ किया जा सकता है !

पर कई बार ये प्रश्न उठता है की मछली पालन में ट्रेनिंग की क्या आवश्यकता है ?

क्या जो लोग काफी सालों से मछली पालन कर रहे हैं क्या उन्होंने कभी किसी से कोई मछली पालन की ट्रेनिंग ली अगर नहीं तो फिर हमें इस तरह की किसी ट्रैनिंग की क्या जरुरत है?

कुछ हद तक ये सही है की आपको मछली पालन की ट्रेनिंग की कोई जरुरत नहीं है ये कार्य आप बिना किसी की सहायता के भी कर सकते है पर समस्या ये आती है की अगर आपको मछली पालन की मूलभूत जानकारी नहीं है तो भविष्य में मछली पालन में आने वाली कोई समस्या अगर आपके सामने आती है तो आप उसका सामना कैसे करेंगे ?

जैसे
१- मछलियों को कितना व कोनसा खाना दिया जाये जिससे उनकी ग्रोथ अच्छी व जल्दी हो
२- मछली पालन में पानी की तैयारी व टैंक या पोंड कैसे बनाये
३ – अगर कोई बीमारी आई तो उसके लिए क्या करना पड़ेगा

इसी तरह की और भी कई समस्याएं आती है और अगर आपने किसी सही जगह से ट्रेनिंग ली है तो आपको काफी चीजों के बारे में जानकी मिल जाएगी और इस तरह की किसीभि समस्या का सामना आप आराम से कर पाएंगे!

ट्रैनिंग लेने के बाद आप किसी भी समाया का समाधान जल्दी कर पाएंगे व किसी भी सम्भावित नुकसान से बच पाएंगे ! मछली पालन में समय काफी महत्व रखता है !

किसी भी कार्य को करने से पहले उसके बारे में अधिक से अधिक जानकारी प्राप्त कर लेना आवश्यक है और वो भी उस अवस्था में जब आप उस कार्य से अपनी जीविका अर्जन करने का सोच रहे हैं तब तो जानकारी प्राप्त करना और भी जरुरी है अन्यथा हो सकता है की आपको असफलता का सामना करना पड़े या फिर वो कार्य जो आपने बिना सीखे शुरू कर दिया या फिर आपको उसके बारे में जायदा जानकारी नहीं है तो हो सकता है की वो आपके लिए घाटे का कार्य साबित हो और आपका मूल्यवान समय व मेहनत से अर्जित किया हुआ धन उसमे लग जाये व कोई लाभ ना अर्जित कर पायें |

बायोफ्लॉक मछली पालन में ट्रेनिंग की आवश्यकता

बायो फ्लॉक मछली पालन भी इसी तरह का कार्य या व्यसाय है जिसमे आपको इस कार्य से सम्बंधित जानकरी होना आवश्यक है ! हो सकता है आपने काफी लोगो को ये कहते सुना होगा की मछली पालन का कार्य करने के लिए कोई ट्रेनिंग लेने की जरुरत नहीं है आप उसे बिना प्रक्षिक्षण के भी कर सकते हैं ! पर ऐसी बात नहीं है किसी भी कार्य या व्यवसाय को सफल बनाने के लिए मेहनत के साथ व्यवसाय से सम्बंधित बारीकियों का पता होना भी बहुत जरुरी है !

बायो फ्लॉक मछली पालन की एक आधुनकि पद्धति है ! पारम्परिक मछली पालन की तुलना में आप काफी जायदा मछली एक छोटे से टैंक में पाल सकते हैं व अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं !

बायो फ्लॉक मछली पालन का प्रक्षिक्षण उन लोगो के लिए जरुरी नहीं है जिनके परिवार काफी लम्बे समय से मछली पालन से जुड़े हुए हैं पर वो लोग जो इस क्षेत्र में बिलकुल नए हैं व जिनको इस क्षेत्र का कोई अनुभव नहीं है उनको इस कार्य से सम्बंधित प्रक्षिक्षण लेना आव्यशक है अन्यथा उनको सफल होने में काफी लंबा समय लगेगा और हो सकता है की उन्हें प्रारम्भ में नुकसान झेलना पड़े क्यों की उन्हें उस समय कोई गाइड करने वाला नहीं होगा जब उन्हें किसी मार्गदर्शन की आवयशकता होगी जैसे की मछलियों में बीमारी कब होती है और अगर हो जाये तो उसकी रोकथाम कैसे करें ! मछलियों को कब व किस प्रकार से भोजन दें की उनकी बढ़ोतरी अच्छे से हो व किस मछली का पालन कब करना चाहिए जिससे अच्छा मुनाफा हो ! मछली पालन के लीये टैंक कैसे तैयार करें व पानी के पैरामीटर कैसे मैनेज करें व इसी तरह की और चीजों के लिए प्रक्षिक्षण की आव्यशकता होती है !

For More Details Please Whatsapp @ ☏: 9672868980

You are here at this page means you are also one of them who are interested in Biofloc Fish Farming and trying to find more information on What is Bioflock Fish Farming, how to start and where to get

Biofloc Fish Farming Training In India

  • Want to start Fish Farming But worried for Cost and Success Ratio ?
  • Want to Learn how long need to wait for getting final production in Biofloc System ?
  • If Want to learn How to get better biomass in Short Time Span in Biofloc Fish Farming System ?
  • Want to know How to Reduce Food Cost in Biofloc Fish Farming System and get better results ?
  • Want to know Do we need any Biological or Mechanical Filter in Biofloc Fish Farming System ?

and such more questions …. creating trouble to you or stopping you to take further steps ..

Come and Join us … Call us for getting trained by Experts @ ☏- 9672868980

you will get each and every thing you want to know about …

How To Start Biofloc Fish Farming In India

You will learn all the following required skills in our upcoming Biofloc Fish Farming Training In Rajasthan
  • How to Prepare Biofloc Fish Farming Tank
  • Initial And Feed Culture
  • How to introduce fish in Biofloc Farming Tank
  • How to Prepare Fish Food
  • Day to day activities
  • Water Quality testing
  • and many more

Call us for getting trained by Experts @ ☏- 9672868980

Basic Understanding About Biofloc Fish Farming or Biofloc Machli Palan

It is an innovative and cost-effective technology in which toxic materials to the fish and shellfish such as Nitrate, Nitrite, Ammonia can be converted to useful product, ie., proteinaceous feed. It is the technology used in aquaculture system with limited or zero water exchange under high stocking density, strong aeration and biota formed by biofloc.
Original Article can be found here : Biofloc culture